Category: अतुल कुशवाह ‘मौसम’

इन्हें फिर हौसला ये आसमानी कौन देता है…

  — अतुल पहले मौत दे, फिर जिंदगानी कौन देता है मुकम्मल हो सके ऐसी कहानी कौन देता है, यहां तालाब और नदियां कई बरसों से सूखी हैं खुदा जाने …