Category: अनुपम एस ‘श्लोक’

दर्द तुमको भी हुआ होगा तो जरूर!!

कल रात अपने आँगन के पीपल से दो आंसू तोड़ डाले मैंने, दर्द तुमको भी हुआ होगा तो जरूर!! मेरी खुशीओं कि राख से तुम्हारी आँखों में काजल सजाया …