Category: आलोक सिंह ‘गुमशुदा’

सिर्फ मुस्कान देखी सबने

सिर्फ मुस्कान देखी सबने , किसी ने दिल का क्रंदन देखा ही नही कहीं हो न जाओ तुम बदनाम मेरे नाम से इसलिए मैंने इस बात को किसी से …