Tag: वीर रस

वे लोग – आलोक पान्डेय

~~~वे लोग~~~ उदासीन जीवन को ले क्या- क्या करते होंगे वे लोग न जाने किन – किन स्वप्नों को छोड़ कितने बिलखते होंगो वे लोग| कितने संघर्ष गाथाओं में, …

देश प्रेम के दीपक को अब नई ज्वाल देनी होगी

मेरे प्रिय मित्रों – काफी समय से वीर रस पर लिखना चाहता था, पर लिख नहीं पा रहा था I लेकिन लगता इस बार लिख डाला है, अब यह …