Tag: सोरठा

महाकवि तुलसी-महिमा

दन्त पंक्ति पट खोल, मुख महिं बोला राम जब| सुत उपजा अनमोल, हुलसी हुलसी, जग चकित|| (सोरठा) राजापुर शुभ रत्न समाना| उपजा जहँ तुलसी विद्वाना|| छंद शिरोमणि बाबा तुलसी| …