Tag: Khushiya

नया सवेरा, नयी उमंगें – अनु महेश्वरी

रात का अंधेरा छटने लगा, गगन में छाने लगी, सूरज की लालिमा। पक्षियों ने चहचहाना शुरू किया, नया सवेरा, नयी उमंगें लेकर आया। भोर के उजाले ने, जगाया मुझे …