Tag: भ्रष्टाचार पर कविता

करप्शन

ये चिंता नहीं चिताएँ हैं . देश में अनेक समस्याएँ हैं. जिसका मुँह काला और कैरेक्टर है ढीला -ढाला, हर तरफ है उस करप्शन का बोल-बाला. जिसने देश का …