Tag: hindi kavitayein

ये मधुर एहसास मेरे-Raquim Ali

।आप सभी गुणी जन को सपरिवार नववर्ष की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं। ये मधुर एहसास मेरे ये नहीं बिल्कुल अकेले साथ में हैं सारी यादें साथ हैं सारी अदाएं। …

शरद पूर्णिमा – सोनू सहगम

-: शरद पूर्णिमा :- आज पूर्ण चन्द्रमा, सोलह कलाओं से युक्त धरती पर अपनी, अमृत बरसाने आया है धरा के समीप होगा, दमकते चाँद का ये सुंदर संजोग, शरद …

अगर त्योहार न आते…Raquim Ali

अगर त्योहार न आते कैसा लगता? बेहद फीका-फीका लगता इतने चुस्त-दुरुश्त न हो पाते हम इतने रोमांचित न हो पाते। जवान न इतना मचल पाते बच्चे, गुब्बारे न उड़ाते …

कवि पति – समझदार पत्नि: संवाद…Raquim Ali

‘कवि पति – समझदार पत्नि’ संवाद ( नींद में, कवि) पति : ‘ख़ूबसूरत सा मेरा ख़्याल है, यही चल रहा है मेरे मन में खूबसूरत तेरा भी ख्याल होगा, …

अब तक वे एक नहीं हो पाए हैं…Raquim Ali

आसमान, जमीन, सितारे, शय्यारे, सूरज, खला समुन्दर, पहाड़, नदियां, झील, पानी, चाँद, हवा; जो सब ये चीजें आज मौजूद हैं, कभी तो पैदा किए गए होंगे कोई तो होगा …