Tag: छंद -दोहा

दोहा इक्कीसी : उत्कर्ष

कविता लेखन सब करो,साध शिल्प अरु छंद । कविता खुद से बोलती, उपजे बहु आनंद ।। कविता लिखना सीखते,बड़े जतन के साथ । मुख को जोड़ा पैर से,धड़ से …

मेष और वृश्चिक राशि पर ग्रहों की दृष्टियों का फल

चन्द्र दृष्टि फल सविता कुज की राशि पर चन्द्र दृष्ट जो होय | सुन्दर पत्नी प्रेम मय दानी मानी सोय || मंगल दृष्टि फल कुज की दृष्टि विशेष है …