Tag: हौसले की उड़ान कविता कवि पीयूष राज द्वारा रचित

अभी पूरा आसमान बाकी है …

अभी पूरा आसमान बाकी है असफलताओ से डरो नही निराश मन को करो नही बस करते जाओ मेहनत क्योकि तेरी पहचान बाकी है हौसले की उड़ान मत कर कमजोर …