Tag: हास्य व्यग्य

दादा जी की सीख

मेरे घर से गृहयुद्ध की बूँ आ रही है दिन प्रतिदिन मर्ज बढती जा रही है रात में कार्यमुक्त हो घरवाले एक साथ टीवी देखने आ जाते है एक …

चुनावी घोषणापत्र

आज मै सुनाऊंगा अपनी पार्टी का चुनावी घोषणापत्र। आप विस्वास करें या न करें, पर यह पूर्णतया सत्य।। —————————————————————— मेरी पार्टी न धरने वाली, न ही भगवाकरण करने वाली। …

शक्की पत्नी और लाचार पति

एक शक्की पत्नी का पति जब भी कहीं से घर आता। पत्नी उसकी जाँच पड़ताल करती लाचार पति बेबस घबराता।। अगर पति के कपड़ों पर कोई बाल भी दिखाई …