Tag: हमारा पर्यावरण और धार्मिक श्रद्धा

हमारा पर्यावरण और धार्मिक श्रद्धा — डी के निवातिया

आज जब भी हम किसी विषय पर बात करते है बिना उसकी वास्तविकता को जाने पहचाने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करके अपना फर्ज पूरा कर देते है,  या फिर किसी …