Tag: स्वाधीनता दिवस पर कविता

तिरंगा फहराएँ खूब

ताटंक छंद ( 16-14 मात्रा बंदिश के साथ) फिर आया है दिन उमंग का, जश्न आज मनाएँ खूब! नाचे गायें मन हो जितना, तिरंगा फहराए खूब!! लिए जन्म बुद्ध …