Tag: सावन आया

सावन आया — डी के निवातिया

सावन आया *** सावन आया बरसते बादल पपीहा बोले !! वज्र कड़के घनघोर है घटा नाचे मयूर !! प्रथम वर्षा जलाशय प्रताप नहाते बाल !! बूंदे गिरती पुलकित रमना …