Tag: मुहब्बत की शाम—डी. के. निवातिया

मुहब्बत की शाम—डी. के. निवातिया

वफ़ा होने से पहले मुहब्बत की शाम न हो जाये ! प्यार के इम्तिहान में, कही नाकाम न हो जाये !! बेवफ़ा लोगों की सौबत में रहना क़िस्मत ही …