Tag: बीबी पर हास्य कविता

बदलते तेवर

दफ्तर से जब मे घर पहुचा कोलिन्ग बेल का बटन दबाया हैरत मै पड़ गया जब दरवाजे पर नौकरानी की जगह श्रीमतीजी को पाया श्रीमतीजी मुस्कुराती है धीरे से …

बीबी के नाम पर हसना मना है

सच है यारों शादी के बाद अपना राज चलाती बीबी चाहो न चाहो सिर पर काटों का ताज सजाती बीबी जो बनते हैं बब्बर शेर उनको बंदर सा नचाती …