Tag: बिना बताये

रगड़ रगड़कर घिस घिसकर अपना हर जज्बात बने भला करूंगा क्या पढ़ लिखकर जब तक ना हालात बने जेहन को जमीर से जोड़े हो कुछ ऐसे सवालात खड़े भटक …