Tag: बरसात

बरसात — डी के निवातिया

बरसात *** मनभावन सावन वही, वही बरसात है। दिल में उमंग भी वही, वही जज्बात है। मेंढक की टर्र-टर्र, सोंधी माटी की खुशबु नाचते मयूर, अब कहां मिलती वो …