Tag: नोट के तेवर

नोट के तेवर—मुक्तक—डी. के. निवातिया

नोट के तेवर क्या बदले, बहुत कुछ बदल गया ! छोड़ काम धाम इंसान लंबी कतार में ढल गया !! कल तक तिजोरी में बंद सर चढ़कर बोलता था …