Tag: धर्म के ठेकेदारो पर कविता

कुशक्षत्रप की कलम से अमन का पैगाम

यह देश है सभी का, सभी को है जीना कण-कण मे यहाँ राम रहीम का पसीना धर्म के पहरेदारों ने है अमन चैन छीना रंगो को बाँट कहते काशी …