Tag: दूसरो की तलाश में

दूसरो की तलाश में

कवि: शिवदत्त श्रोत्रिय जब भी भटकता हूँ किसी की तलाश में थक कर पहुच जाता हूँ तुम्हारे पास में तुम भी भटकती हो किसी की तलाश में ठहर जाती …