Tag: दुःख भरी कविता

सफ़र ख़त्म हो चुका – मनुराज वार्ष्णेय

सफ़र ख़त्म हो चुका रूह उसकी सो चुकी जान मेरी जा चुकी कुछ नही अब और बाकी जिंदगी नर्क हो चुकी प्यार के आसमां को झुका सफ़र ख़त्म हो …