Tag: डी के निवातिया

हमारी हम, तुम्हारी तुम जानों – डी के निवातिया

हमारी हम जानें, तुम्हारी तुम जानों *** *** *** ! तुम में रमते हम और हम में तुम हो ये एहसास-ऐ-दिल कभी तो पहचानों सच, करीब कितने है हम …