Tag: गुरु वंदना

गुरु वंदना …..

प्रथम चरण वंदन गुरु देव को, राह अस्तित्व की दियो बताये। मुझे निर्जन शिला से, घिस घिस कर नगीना दियो बनाये ।। कितने शुभ दिवस पर बना आज पावन …

गुरु महत्ता

जग सारा मिटटी सदृश्य पड़ा गुरु कृपा से बनता सुघर घड़ा नर ज्ञान ले देव पंक्ति में खड़ा बन निर्भय उच्च शिखर चढ़ा संसार गोविन्द को जान न पाता …