Tag: क्षणिकाएँ

१५ क्षणिकाएँ—क्षणिकाकार: महावीर उत्तरांचली

(१.) तार ———– आत्मा एक तार है जोड़ रखा है जिसने जीवन को मृत्यु से और मृत्यु को जोड़ा है … पुन: नवसृजन से …. (२.) क्रांति ————- परत-दर-परत …