Tag: अमीर और गरीब पर कविता

पैसा जन्य अमीरी, गरीबी

पैसा परिभाषित करती अमीरी और गरीबी को कोई इठलाता यहाँ, कोई कोसता बदनसीबी को पैसा जीवन बदल देता बनाता धनवानहै। कितना धन उसके पास मे, नही कोई अनुमान है। …