Author: vijaykr811

काज पांच साल का:-विजय

दे रहा हिसाब तुमको मैं आज पांच साल किया है जो हमने काज कौशल विकास का रथ दौड़ाया हर हुनर को हमने पंख लगाया स्टार्ट-अप स्टैंड-अप हमारा मिशन दे …

प्रतिशोध :- विजय

कब तक पठानकोट,कब तक उरी कब तक सहेंगे पुलवामा अब तो जागो हे पुरूषोत्तम करो आतंकरूपी रावण का खात्मा भाता नही अब छोटी सर्जरी न भाता अब कोई वार्ता …

गठबंधन

जदयू-राजद के बेमेल शादी का अन्जाम यही तो होना था जदयू-राजद गठबंधन का यू तार-तार तो होना था छोड़ भाजपा का साथ जदयू राजद का दामन थामा था सोचा …

आजादी

देश की हर आबादी ने,मांगी थी अपनी आज़ादी क्या ये आज़ादी बस थी अंग्रेजी हुकूमत तक अंग्रेजी हुकूमत से आज हर आबादी आज़ाद है फिर भी भारतवंशी आज दाने-दाने …