Author: Umesh chamola

दीवानों का कारवां ,रचना -डॉ उमेश चमोला

रुकेगा नहीं यह दीवानों का कारवां, जमीन चाहे उठ पड़े, झुके चाहे आसमां. हम सदा चलेंगे, चलते रहेंगे, राष्ट्र प्रेम के प्रसून, दिल में खिलेंगे, रखेंगे वहीं कदम, पूर्वजों …

जय हिन्द भारत विशाल ,रचना -डॉ उमेश चमोला

शहर -शहर,गाँव -गाँव, धूप-धूप,छाँव -छाँव, कारवां बढ़ता रहे,लेकर शिक्षा मशाल, जय हिन्द भारत विशाल. दीप से दीप जले, तमस किसी को न छले, हँसते गाते आगे बढे रहे देश …

बढ़ते जाना अपनी शान,रचना -डॉ उमेश चमोला

आंधी हो या तूफ़ान, बढ़ते जाना अपनी शान. पिया है हमने माँ का पय, दान मिला है हमें अभय, मांगेगी माटी जब भी, दे देंगे हम अपनी जान, सुनी …

प्यारी चिडिया.बाल कविता रचना डॉ उमेश चमोला

रंग रंगीले,पंख सजीले, गाती मीठा गीत, मन करता है उसे छू लूं, हो गई उससे प्रीत. जब में उसके निकट आता, वह उड़ जाती फुर्र, पत्तों की झुरमट में …

बच्चे प्यारे

रचना –डॉ उमेश चमोला पढ़ते लिखते खूब किताबें, साथ खेलते खेल, नहीं किसी से हम हैं लड़ते, रखते सबसे मेल, आसमान में टिमटिम करते, जैसे चमके तारे, वैसे हिलमिल …