Author: tamanna

मेरे सनम

मेरे ख्वाबो के जंहा में बसने वाले रंगीन तितलियों के पंखो की तरह ऐ खामोश आँखों में छिपे अश्को मेरी सांसो ने तुम्हे ढूंढ ही लिया … कोई जरिया …

सिग्नल पर खड़े बच्चे की ख्वाहिश

मुझे भी चाहिए गुड़िया , ये घडी और चॉक्लेट बढ़िया सुन्दर सा महल , मखमली सा बिस्तर और नया जूता मुझे भी चाहिए गुड़िया …………………………….. कोई नरमी नहीं मेरे …