Author: Dr Swati Gupta

आज का बचपन

आधुनिकता का परिधान पहने है आज का बचपन, महँगे खिलौनों में सिमट गया है आज का बचपन, खुले आसमान के नीचे खेलने का रिवाज नहीं अब, इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में …

देशप्रेम

जान से प्यारा देश हमारा, ये हमको दिखलाना है, विश्व के मस्तक पर हमको,भारत का मुकुट सजाना है। आजादी की खातिर वीरों ने स्वप्राणों का बलिदान दिया, वीरों की …

पुरुष

नारी की महत्ता समाज में हर कोई दर्शाता है, पुरुषों का सिर्फ अहम भाव ही क्यूँ दिखलाता है, कर्तव्य परायण पुरूष भी हैं,हर फर्ज निभाता है, पुत्र,भाई, पति और …

बेटे का जन्मदिन

तू है मेरा नन्हा फरिश्ता, तू है मेरा नौनिहाल, तुझसे रौशन दुनिया मेरी,तू है मेरा प्यारा लाल। 777 का अनुपम मेल,काल सप्तमी मास आषाढ़, तेरे नन्हे से कदमों ने,घोला …

बलात्कार

1-सुरक्षा नहीं, डर लगता है माँ, छिपा लो मुझे। 2-कैसे जाएं माँ, राक्षस हैं आजाद, सुरक्षा कहाँ। 3-मासूम बच्ची, हवस का शैतान, रौंद दी गयी। 4-नाजुक कली, उम्र थी …

शादी की वर्षगांठ की शुभकामनाएं

निवातिया सर् आपको शादी की वर्षगांठ की शुभकामनाएं।💐💐 1-सुखमय हो, आपका ये जीवन, संगिनी संग, सजाएं जिंदगी में, खुशहाली के रंग। 2-खुशियाँ रहें, सदा ही जीवन में, महके यूँ …

मौसम बड़ा सुहाना है।

माँ चलो बाहर घूमने ,मौसम बड़ा सुहाना है, रिमझिम रिमझिम बारिश में, दिल हुआ दीवाना है। नाच रहा है मोर भी देखो,कूंक रही है कोयल प्यारी, मंडरा रहा फूलों …

जीवन और मृत्यु

जन्म मिला है इंसान का, इसको व्यर्थ न गवांना तुम, इंसान हो अगर तो,इंसानियत का फर्ज निभाना तुम। गुरुर करना न दौलत का कभी,ये माटी का ढेला है, फिसल …

देश और राजनीति

खतरा मंडरा रहा है देश पर,देश के ही गद्दार से, लूट रहे खुमेआम देश को,अपनी षड्यंत्री चाल से। अफरातफरी मची हुई है,बेचैनी का आलम है, दहशत का बाजार गरम …

स्वयं को सौंप कर स्वयं से हारी हूँ,मैं एक नारी हूँ।

स्वयं को सौंप कर,मैं स्वयं से हारी हूँ, मैं एक नारी हूँ। कर्तव्यों को रखा सर्वोपरि, अधिकारों को न् मोल दिया, अपनो की खातिर,अपने ख्वाबों को, पल भर में …

मंजिलें मुकाम पाती रही हूँ।।

नज़्म।। उम्मीद के दीये जलाती रही हूँ, तूफाँ में भी कश्ती चलाती रही हूँ।। हौसले डगमगा नहीं सकते हैं मेरे, विश्वास को मन में बढ़ाती रही हूँ।। नहीं तोड़ …