Author: sarvesh singh sameer

प्यार कितना है तुमसे……

प्यार कितना है तुमसे……………… प्यार कितना है तुमसे न पूछा करो , इसका उत्तर कभी भी न दे पाउँगा … तुम पंखुड़ी हो कली की तो डाली हूँ मै, …

मै तेरे पास ही रहता हूँ|

रोज सुबह उठके जब मै अपने सपनो से जगता हूँ , तेरी बातो को गीत बनाके गुनगुनाता रहता हूँ, ऑफिस में मै तेरी याद में काम सारे निपटाता हूँ, …