Author: संदीप पाटीदार

दुश्मन दॊस्त

दुश्मन भी पेश आए हैं दिलदार की तरह; नफरत मिली है उनसे मुझे प्यार की तरह; कैसे मिलेंगे चाहने वाले बताईये; दुनिया खड़ी है राह में दीवार की तरह; …

दुश्मन भी पेश आए हैं दिलदार की तरह

दुश्मन भी पेश आए हैं दिलदार की तरह; नफरत मिली है उनसे मुझे प्यार की तरह; कैसे मिलेंगे चाहने वाले बताईये; दुनिया खड़ी है राह में दीवार की तरह; …