Author: Poonam Verma

सोच कर सोचो साथ क्या जायेगा

सोच कर सोचो साथ क्या जायेगा, अंत समय में नर तू भी पछतायेगा। मुठी बन्द करके आया हाथ पसार जायेगा, सोच कट सोचो साथ क्या जायेगा। अंत समय में …

बस छोटी सी है गिला

तोड़ दिए मैंने अपने सारे सपने, साथ नही है मेरे अपने, मुझे उनका प्यार नही मिला, बस यही है छोटी सी गिला। उन्होंने मुझे बहुत दर्द है दिया, फिर …

Teri yaaden

पल पल बदल जाते हैं लोग, हम पागल समझ ही नही पाते। अपने मेरी सारी यादें मिटा दी, और हमारी यादों से कहीं नही जाते। हम तो सोचते थे …