Author: bebak lakshmi

इंतज़ार रहेगा मुझे…

इंतज़ार रहेगा मुझे उस दिन का जब तेरी ज़िन्दगी में जगह बना पाऊं। इंतज़ार रहेगा मुझे उस दिन का जब तेरे सपनों को सिर्फ मैं ही सजाऊं। इंतज़ार रहेगा …

सपने अपने नहीं होते

शिक़वा हमें ग़ैरों से नहीं बल्कि अपनों से है जो अपने न हो पाये उन बेगाने सपनों से है। अपना समझकर जिन्हें आंखों में बसाया उन्हीं सपनों से देखो …

खूबसूरत हो तुम 

खूबसूरती एक मुस्कराहट है  और इस मुस्कराहट में  अपनी हंसी से  चांदनी बिखेरती हो तुम।  खूबसूरती एक सपना है  और उन सपनों में  अपनी उम्मीदों के  रंग भर जाती हो …

क्योंकि मैं स्त्री हूं

क्योंकि मैं स्त्री हूं इसलिए मुझे नहीं है कोई अधिकार जन्म से ही अपने माता पिता के लिए होती परायी हूँ। नाज़ों से पाला मुझे पर अब मुझे ही …