Author: asma khan

वीर सपूतों

नमन है तुमकों वीर सपूतों, कर रहे सुरक्षा तुम सरहदों की, जमे हुए हो तुम तूफानों में आँधी में, पर्वतों की तरह…….. हौसले हैं तुम्हारे आसमानों से ऊँचे, संकल्प …

जिन्दगी

लालच कर न ऐ इंसान, वरना गुजरेगी न तेरी जिन्दगी आसान, तकब्बुर को छोङ दे, और मोहब्बत से रिश्ता जोङ दे, बस जिन्दगी में रहेगा प्यार, और जिन्दगी होगी …

वक्त

राह चलते चलते रहनुमा बदल गये ! मंजिल का पता नही, रास्ते बदल गये……! वक्त क्या बदला दोस्तो, कस्तियाँ तो वही रही किनारे बदल गये…….!

वक्त

राह चलते चलते रहनुमा बदल गये ! मंजिल का पता नही,रास्ते बदल गये ……! वक्त क्या बदला दोस्तो, कस्तियाँ तो वही रही ,किनारे बदल गये……..!

रोटी

रोटी की कीमत जाने भूखा चका न जिसने एक टूका ! कीमती तो कहते है,हम उसको तिजोरी मे रखते है ,जिसको रोटी की कीमत जाने भूखा जो खाए रूखा …

नई सोच

गाँव को स्वच्छ बनाएँ, उसे प्रदूषण मुक्त बनाएँ, इस संसार की सुन्दरता को दोगुना बढाएँ, गाँव को आजादी दिलाएँ, गाँव में शौचालय बनाएँ, और गाँव को आदर्श बनाएँ!