Author: Ashwani Mishra

नफरत ही नफरत है….!!

नफरत ही नफरत है मोहब्बत का निशां नहीं इतनी नफरत देखकर खुदा भी हैरान है। ज़ुल्म इतनी सादगी से है जबरदस्ती का निशां नहीं इतना विष देखकर सर्प भी …