Author: Anuj Bhargava

संघर्ष

संघर्ष अभाव ज्ञान का पनप रहा अलगाव सा अत्याचार अगन समान अन्याय सुलग रहा अंधकार फैल रहा ईमान गुमराह कर रहा ईमानदारी भटक रही दिलों में दूरियाँ बढ़ रही …