न झगड़े आपस में हम – अनु महेश्वरी

कठिन है राहे, मुश्किल है रास्ते,
गरीबी, बेरोजगारी, अशिक्षा, भ्रष्टाचार,
और न जाने कितने,
अनगिनत परेशानिया के साथ है सफ़र,
मंजिल अभी दूर है, पर साथ रहे अगर,
भरोशा, हिम्मत और विश्वास टूटने न पाए जब,
हर परिस्थिती से लड़ने को हम सब तैयार है तब,
हर अँधेरा, जीवन से सब के, तब दूर होगा,
नये सूरज से, फिर एकबार उजाला होगा,
हर घर रोशनी से रोशन होगा तब भारत में,
हर ज़िन्दगी, ख़ुशहाल होगी, तब भारत में,
लौट आएगा स्वर्णिम युग, तब भारत में,
अगर, न झगड़े आपस में हम, अब भारत में…..

 
अनु महेश्वरी
भारत

16 Comments

    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 20/07/2017
  1. C.M. Sharma babucm 19/07/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 20/07/2017
  2. Bindeshwar prasad sharma Bindeshwar Prasad sharma 19/07/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 20/07/2017
  3. Bhawana Kumari Bhawana Kumari 19/07/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 20/07/2017
  4. Bhawana Kumari Bhawana Kumari 19/07/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 20/07/2017
  5. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 19/07/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 20/07/2017
  6. Madhu tiwari Madhu tiwari 19/07/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 20/07/2017
  7. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 19/07/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 20/07/2017

Leave a Reply