फरक तो पड़ता है – अनु महेश्वरी

आँगन में आती धुप से,
वृक्ष की ठंडी छाव से,
ताजी बहती हवा से,
फरक तो पड़ता है,
कुछ पल के लिए ही सही,
मन अपना भी खिल उठता है|

लोगो के फरेब से,
लोगो के झूठ से,
लोगो के कुतर्क से,
फरक तो पड़ता है,
कुछ पल के लिए ही सही,
मन की शांति हम भी खोते है|

मुस्कुराते चेहरों से,
खुशहाल ज़िंदगी से,
प्यार के मीठे बोल से,
फरक तो पड़ता है,
कुछ पल के लिए ही सही,
मुस्कुरा हम भी लेते है|

लोगो के उदास चेहरों से,
लोगो के टूटे ख्वाबो से,
रूठे हुए से स्वर से,
फरक तो पड़ता है,
कुछ पल के लिए ही सही,
उदास हम भी हो लेते है|

बढ़ते आतंकबाद से,
आपस के झगड़ों से,
किसी के बेतुके बयान से,
फरक तो पड़ता है,
कुछ पल के लिए ही सही,
मन का चैन हम भी खोते है|

अपनों के मीठे बोल से,
बड़ो के आशीर्वाद से,
बच्चो के अपनत्व से,
फरक तो पड़ता है,
हमेशा के लिए ज़िन्दगी में,
सुकून और आनंद रहता है|

बच्चे की प्यारी सी मुस्कुराहट से,
उन के जीवन में ख़ुशी से,
उन के पुरे होते सपनों से,
फरक तो पड़ता है,
माता-पिता के भी जीवन में,
एक ऊर्जा सी बनी रहती है|

 
अनु महेश्वरी
चेन्नई

18 Comments

  1. Bindeshwar prasad sharma Bindeshwar Prasad sharma 16/07/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 17/07/2017
  2. Madhu tiwari Madhu tiwari 16/07/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 17/07/2017
  3. angel yadav Anjali yadav 16/07/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 17/07/2017
  4. arun kumar jha arun kumar jha 16/07/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 17/07/2017
  5. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 17/07/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 17/07/2017
  6. C.M. Sharma babucm 17/07/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 17/07/2017
  7. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 17/07/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 17/07/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 18/07/2017
  8. shubham pandey 12/10/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 13/10/2017

Leave a Reply