तेरे जाने से

चंद घंटो में ये तारीख बीत जायेगी
रात के बीतने से चाँद रूठ जायेगी
चाँद गर रह गया तो उसकी चांदनी बीत जायेगी
ए सितम-गर ए मोहब्ब्त
तू चाँद थी मेरी
तेरे जाने से
मुझसे रौशनी रूठ जायेगी
तू मत जा
तुझमे खुद को खो जाने की नियत है
तेरे आगोश में डूब जाने की चाहत है
दिल को बांटने वाले भी बहुत है
दिल सुराख़ करने वाले भी बहुत है
ए मेरे खुदा ए मोहब्बत
तू मत जा
तेरे जाने से मौत का लिहाफ ओढ़ जाऊँगा
तेरे जाने से राख हो जाऊँगा
तेरे जाने से अपना वजूद गवां जाऊँगा—-अभिषेक राजहंस
LikeShow more reactionsCommentShare

7 Comments

  1. Madhu tiwari Madhu tiwari 16/07/2017
  2. Bindeshwar prasad sharma Bindeshwar Prasad sharma 16/07/2017
  3. arun kumar jha arun kumar jha 16/07/2017
  4. babucm babucm 16/07/2017
    • Abhishek Rajhans 17/07/2017
  5. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 17/07/2017

Leave a Reply