सावन की बहार

सावन की बहार
प्रियतमे तुम्हारा इंतज़ार
उमड़ते बादल
बरसते मेघ
भींगते पपीहे
नाचते मोर
थिरकते पाँव
बजती पायल
पायल की झंकार
सावन की बहार
सजनी तेरा मेरा प्यार
आँखों का आँखों से करार
बूंदो वाली टप -टप पानी
तेरी मेरी कहानी
भींगे तेरा बदन
भींगे मेरा मन
न कोई भरम
न कोई कसम
अब काहे की शरम
अब होने भी दे छुअन
हो जाने दे मगन
हो जाने दे मिलन
सावन की बहार
बारिश की फुहार
प्रियतमे ना करा इंतज़ार

14 Comments

    • Abhishek Rajhans 17/07/2017
  1. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 15/07/2017
    • Abhishek Rajhans 17/07/2017
  2. chandramohan kisku chandramohan kisku 15/07/2017
    • Abhishek Rajhans 17/07/2017
  3. Bindeshwar prasad sharma Bindeshwar Prasad sharma 15/07/2017
    • Abhishek Rajhans 17/07/2017
  4. arun kumar jha arun kumar jha 15/07/2017
    • Abhishek Rajhans 17/07/2017
  5. SARVESH KUMAR MARUT SARVESH KUMAR MARUT 16/07/2017
    • Abhishek Rajhans 17/07/2017
  6. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 17/07/2017
    • Abhishek Rajhans 17/07/2017

Leave a Reply