फिर आया सावन

देखो सखि !फिर आया सावन,

चलो ना मायका हो आए।

बहुत की सेवा हमने सास ससुर की

अब मम्मी पापा को देख आए।

देखो सखि! फिर आया सावन,

चलो ना मायका हो आए।

बहुत झुलाया हमने अपने बच्चों को बाहो का झुला,

अब मम्मी पापा के बाहो मे झुल आए।

देखो सखि! फिर आया सावन,

चलो ना मायका हो आए।

बहुत नखरे उठाया हमने,

अपने सास के बेटे की।

अब अपने माँ के बेटे की,

भी नखरे उठा आए।

देखो सखि!फिर आया सावन,

चलो ना मायका हो आए।

पुरा ग्यारह महीना किया हमने,

दूसरों की जी हजुरी,

अब थोड़ा आराम फरमाऐ।

देखो सखि!फिर आया सावन,

चलो ना मायका हो आए।

 

 

 

 

12 Comments

  1. Madhu tiwari Madhu tiwari 15/07/2017
    • Bhawana Kumari Bhawana Kumari 15/07/2017
  2. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 15/07/2017
    • Bhawana Kumari Bhawana Kumari 15/07/2017
  3. babucm babucm 15/07/2017
    • Bhawana Kumari Bhawana Kumari 15/07/2017
    • Bhawana Kumari Bhawana Kumari 15/07/2017
  4. chandramohan kisku chandramohan kisku 15/07/2017
    • Bhawana Kumari Bhawana Kumari 15/07/2017
  5. SARVESH KUMAR MARUT SARVESH KUMAR MARUT 16/07/2017
  6. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 17/07/2017

Leave a Reply