जी ० एस ० टी ०

मोदी जी हम खुश हैं
तुम निर्णय ले लेते हो
फल भले न मिलते हों
जैसा चाहो, कर लगा दो
चाहो तो कर और बढ़ा दो
जी० एस० टी० चालू कर दो
या टी ० टी ० और लगा दो
बस कुछ हमारी भी सुन लो
बात हम जनता की मान लो
चिकनी-चिकनी सड़के कर दो
नहीं बदलनी पड़े टायर
अब छ महीनें में दो दो
सरकारी अस्पतालें सजा दो
नर्सिंग होमों जैसा चमका दो
हर इलाज वहां हमारा हो
हर अस्पताल ऐसा बना दो
निजी स्कूलों पर लगाम लगा दो
अभिभावक को लुटने से बचा लो
कद सरकारी स्कूलों का बढ़ा दो
हर बच्चा वहां पढ़ने को आतुर हो
बिजली पूरे चौबीस घंटें दो
इन्वर्टर बैटरी अब रहने दो
मुफ्त की रेवड़ियाँ अब बंद करो
चुनाव में ऐसे फरमान ख़त्म करो
जगह जगह पार्क बना दो
योगा हमसे वहीं करवा लो
स्लीपर का बर्थ दिला दो
महीनों का इंतजार मिटा दो
चलती गाड़ी समय पर ला दो
बुलेट ट्रेन की रट, तब लगा लो
नवयुवकों को रोजगार दिला दो
हर घर में चूल्हें तुम जलवा दो
हर शहरों से जाम हटा दो
फ़लैओवर हर जगह बना दो
किसानों की मंडी सजा दो
भाव मेहनत के, उन्हें दिला दो
इंजीनियर डॉक्टर की हाहाकार मिटा दो
स्कूल इतने तुम खुलवा दो
अदालत में पड़ें केसों को
जल्दी निपटारा करवा दो
सैनिकों का तुम उत्साह बढ़ा दो
पत्थरबाजों को, उनका दम दिखला दो
कांग्रेस मुक्त भारत, छोड़ो
अपराध मुक्त भारत कर दो
बस ऐसा हीं हिंदुस्तान बना दो
भारत को फिर महान बना दो
फिर चाहे तुम जितना दुह लो
चाहे जितना टैक्स लगा लो

Like

9 Comments

  1. SARVESH KUMAR MARUT SARVESH KUMAR MARUT 02/07/2017
  2. C.M. Sharma babucm 02/07/2017
  3. arun kumar jha arun kumar jha 02/07/2017
  4. Madhu tiwari madhu tiwari 02/07/2017
  5. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 02/07/2017
    • श्याम दत्त मिश्रा श्याम 02/07/2017
  6. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 02/07/2017
  7. Ram Gopal Sankhla Ram Gopal Sankhla 03/07/2017
  8. Vivek Singh Vivek Singh 03/07/2017

Leave a Reply