Meri Pyari Bindu

Meri Pyari Bindu

नौ बजते ही चला जाता है मेरा ध्यान फ़ोन की तरफ बार बार
और करने लग जाता हूँ तुम्हारे मैसेज का इंतज़ार होकर बेक़रार
ना जाने आज कल क्या हो गया है मुझे कहते हैं लोग
और मुझे लगता है पागल हैं लोग

कल ही सोच रहा था किस नाम से तुम्हे बुलाऊँ
शोना, मोना, डार्लिंग, जानु, या फिर बेबी
पर मुझे तो भाते नहीं ये सब
और चाहता नहीं मैं करना किसी और की नक़ल
फिर लगा सोचने,
और दिमाग के घोड़े इधर उधर दौड़ाने
तब आया एक नाम मेरे मन में –

गर हो इज़ाज़त तो इसी नाम से तुम्हे बुलाऊँ
नहीं तो बस यूँही तुम्हे देखकर मंद मंद मुस्काऊँ

Anderyas

One Response

  1. Bindeshwar prasad sharma bindeshwar prasad sharma 12/06/2017

Leave a Reply