सर्वशक्ती उन्नती का एक यही वरदान हैं- बिट्टू

सर्वशक्ती उन्नती का एक यही वरदान हैं
सहयोग हो हर एक जन का ,तभी सरल हर काम हैं
वो महल भी बिखर गया है जहा दिलो मे खटास हैं
प्रेम हो हर एक जन वो झोपड़ी भी खास हैैैैं

वो जिला वो राज्य वो देश बढ सकता नही
जहा जाती धर्म नीच ऊच जंग तमाम है
आओ बदल दे रीत ये थाम ले हर हाथ को
हर एक जन मुस्कान फैलाने चले हम साथ को

एैसा न हो कोई फिरंगी आए हमे फिर लूट ले
एक बार धोखा खा चुके हैै आज तो हम सीख ले
खपाना है खुद को खपा दो समाज के कल्याण मे
क्यो बहा रहे लहू हो जाती हिन्दू मुस्लिम नाम पे

चमन से पूछो हुआ क्या भिन्न फूल नाम पे
हर एक अलंकरित कर रहा भिन्न रंग खुशबू साथ मे
फिर हुए क्यो हम जुदा बदली हुई हालात हैं
अपनी भी तो वही भिन्नता चमन सी ही बात हैं

18 Comments

  1. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 28/05/2017
    • arun kumar jha arun kumar jha 28/05/2017
  2. Bindeshwar prasad sharma Bindeshwar Prasad sharma 28/05/2017
    • arun kumar jha arun kumar jha 28/05/2017
  3. Meena Bhardwaj Meena Bhardwaj 28/05/2017
    • arun kumar jha arun kumar jha 28/05/2017
  4. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 28/05/2017
    • arun kumar jha arun kumar jha 28/05/2017
  5. shivdutt 28/05/2017
    • arun kumar jha arun kumar jha 28/05/2017
  6. MANOJ KUMAR MANOJ KUMAR 29/05/2017
    • arun kumar jha arun kumar jha 29/05/2017
  7. babucm babucm 29/05/2017
    • arun kumar jha arun kumar jha 29/05/2017
  8. Kajalsoni 29/05/2017
    • arun kumar jha arun kumar jha 29/05/2017
  9. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 29/05/2017
    • arun kumar jha arun kumar jha 29/05/2017

Leave a Reply