अकेले सूरज से ही पुरे ब्रम्हांड में रोशनी होती है – अनु महेश्वरी

बिन मेहनत मिला धन कभी टिकता नहीं,
मेहनत से मिली सफलता जाहिर होती है|

बस पैसो से जो रिश्ते बनते वो टिकते नहीं,
स्नेह से बंधा रिश्ता ही केवल अटूट होता है|

ज़िन्दगी के उताड़ चढ़ाव में कभी घबराना नहीं,
इसी से तो अपनी निष्ठा की पहचान होती है|

गलत है यह, कोई अकेला कुछ कर सकता नहीं,
अकेले सूरज से ही पुरे ब्रम्हांड में रोशनी होती है|

 
अनु महेश्वरी
चेन्नई

16 Comments

  1. Bindeshwar prasad sharma Bindeshwar Prasad sharma 27/05/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 28/05/2017
  2. Madhu tiwari Madhu tiwari 27/05/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 28/05/2017
  3. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 27/05/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 28/05/2017
  4. MANOJ KUMAR MANOJ KUMAR 27/05/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 28/05/2017
  5. Meena Bhardwaj Meena Bhardwaj 28/05/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 28/05/2017
  6. C.M. Sharma babucm 28/05/2017
  7. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 28/05/2017
  8. Kajalsoni 29/05/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 29/05/2017
  9. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 29/05/2017
    • ANU MAHESHWARI Anu Maheshwari 29/05/2017

Leave a Reply