गुजारो नहीं – मधु तिवारी

यूं ही सजधज के रहा करो,
जीवन जीयो,गुजारो नहीं

कभी खता कर लिया करो
हमेशा ही भूल सुधारो नहीं

डालो कभी निगाहें खुद पर
सदा औरों को निहारो नहीं

सपने जिलाने किसी का यूं
अपने सपने को मारो नहीं

चढ़ाने कद ऊपर औरों की
खुद को नीचे उतारो नहीं

सिद्दत से सजो कभी तुम भी
सदा औरों को संवारो नहीं
!
!
!
मधु तिवारी