तेरी नजरो में — डी के निवातिया

तेरी नजरो में

***

मुझे सुनते तो सभी है
समझो अगर तुम तो मानू
चाहत तो सभी को है
पहचानो अगर तुम तो जानू
क्या फर्क पड़ता है
अच्छा हूँ या बुरा किसी के लिए
अहमियत तेरी नजरो में हो तो मानू  
दुनिया जो सर पे बिठाये तो क्या
मिल जाये जगह तेरे दिल में तो जानू  
!
!
!
डी के निवातिया

20 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 18/05/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 23/05/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 23/05/2017
  2. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 18/05/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 23/05/2017
  3. Meena Bhardwaj Meena Bhardwaj 18/05/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 23/05/2017
  4. कृष्ण सैनी कृष्ण सैनी 18/05/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 23/05/2017
  5. Bindeshwar prasad sharma bindeshwar prasad sharma 18/05/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 23/05/2017
  6. C.M. Sharma babucm 18/05/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 23/05/2017
  7. arun kumar jha arun kumar jha 18/05/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 23/05/2017
  8. Madhu tiwari Madhu tiwari 19/05/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 23/05/2017
  9. Shyam Shyam 20/05/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 23/05/2017

Leave a Reply