अंकुश — डी के निवातिया

मदमस्त हाथियों का डेरा है
महावत के अंकुश ने घेरा है
बेड़िया बंदिशों कि है पैरो में
मस्तक शक्ति का सेहरा है !!

!
!
!
डी के निवातिया

16 Comments

    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 18/05/2017
  1. MANOJ KUMAR MANOJ KUMAR 11/05/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 18/05/2017
  2. Meena Bhardwaj Meena Bhardwaj 12/05/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 18/05/2017
  3. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 12/05/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 18/05/2017
  4. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 12/05/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 18/05/2017
  5. babucm babucm 12/05/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 18/05/2017
  6. raquimali raquimali 12/05/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 18/05/2017
  7. Shyam Shyam 21/05/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 22/05/2017

Leave a Reply