उम्मीद की किरण,,,,,,,

उम्मीद की किरण,,,

दिल के आसियाना में
जलाया प्यार का दीप
जल गया आसियाना
रह गई जलन
कही तो दिखाई दे
उम्मीद की किरण

रह गए तन्हा ग़मों के आह पर
ग़मों को भी रोना आये
पर ना आये ख़ुदा
कर मैं बार-बार फ़रियाद
कही तो दिखाई दे
उम्मीद की किरण

चंदा देख रात गुजारू
बन बसंती सुनाए लोरी
तन्हा रात याद आये निर्मोही
भर आये आँसुओ से नयन
कही तो दिखाई दे
उम्मीद की किरण

यादों की नैया पार लगाऊ
मैं बैठा मजधार
कहि गिरे आँसू
कहि गिरे प्यार
इन आँसुओ के सार रह गई
ग़मों की जलन
कही तो दिखाई दे
उम्मीद की किरण,,,,,,

~~~~मु.जुबेर हुसैन

8 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 07/05/2017
    • md. juber husain md. juber husain 30/06/2017
  2. MANOJ KUMAR MANOJ KUMAR 08/05/2017
    • md. juber husain md. juber husain 30/06/2017
  3. C.M. Sharma babucm 08/05/2017
    • md. juber husain md. juber husain 30/06/2017
  4. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 09/05/2017
    • md. juber husain md. juber husain 30/06/2017

Leave a Reply